shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday

Shilpanchal Today

Latest News in Hindi

जेड ब्लैक अगरबत्ती ने कोलकाता में नकली अगरबत्ती घोटाले का पर्दाफाश किया, एफएमसीजी इंडस्ट्री में सतर्कता का आग्रह किया

1 min read
कोलकाता/बिहार । मध्य प्रदेश स्थित अगरबत्ती बनाने वाली अग्रणी कंपनी जेड ब्लैक ने त्योहारी सीजन की शुरुआत में एक महत्वपूर्ण सफलता हासिल करते हुए प्रतिष्ठित ब्रांडों की नकली सामग्री के साथ पैक की गई नकली अगरबत्ती की बिक्री करने वाले गोदामों पर सफलतापूर्वक छापा मारा है। इस ऑपरेशन ने पूरे भारत में प्रार्थना और पूजा की आवश्यक वस्तुओं के बाजार को प्रभावित करने वाले एक बड़े घोटाले का खुलासा किया। पश्चिम बंगाल के आसनसोल दुर्गापुर पुलिस कमिश्नरेट में इस सप्ताह एक प्राथमिकी दर्ज की गई। आसनसोल उत्तर थाना के कुरैशी मोहल्ला निवासी मोहम्मद हिलाल और श्री नगर निवासी मोहम्मद असलम के पास से कुरैशी मोहल्ला में रहने वाले मोहम्मद मुक्तार के गोदाम से नकली सामान जब्त किया गया। देश के सबसे बड़े अगरबत्ती निर्माताओं और निर्यातकों में से एक एमडीपीएच ने, जिनका ब्रांड नाम जेड ब्लैक है,  अपने आईपी अधिकारों की रक्षा के लिए आपत्ति/मुकदमेबाजी/शिकायत दर्ज किया है। ट्रेड मार्क्स रजिस्ट्री के समक्ष लगभग 1500 विरोध के नोटिस दर्ज किए गए हैं और ट्रेड मार्क्स रजिस्ट्री के समक्ष गलत तरीके से पंजीकृत ट्रेड मार्क्स के खिलाफ 100 से अधिक सुधार आवेदन भी दायर किए गए हैं। कंपनी ने निषेधाज्ञा और क्षति के लिए विभिन्न सिविल मुकदमे भी दायर किए हैं और मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, उड़ीसा और उत्तर प्रदेश जैसे विभिन्न राज्यों में जालसाजी को रोकने के लिए विभिन्न आपराधिक शिकायतें दर्ज की हैं। मैसूर दीप परफ़्यूमरी हाउस (एमडीपीएच) के अटॉर्नी और एडवोकेट राजेंद्र भंसाली ने बतलाया, ” एमडीपीएच ने उपभोक्ताओं के हित में आवश्यक आक्रामक कानूनी कार्रवाई करके नकली सामानों और जालसाजी का मुकाबला करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता साबित की है। इस सक्रिय दृष्टिकोण को अपनाकर, वे एक मिसाल कायम करना चाहते हैं, जो भविष्य में हो सकने वाले उल्लंघन को रोकेगा और नवाचार और बौद्धिक संपदा अधिकारों के सम्मान के लिए अनुकूल माहौल को बढ़ावा देगा।“ भारत में अगरबत्ती का बाजार प्रति वर्ष 7 फीसदी से 8 फीसदी की दर से बढ़ रहा है। बाजार का करीब 10,000 करोड़ रुपये से 12,000 करोड़ रुपये का होने का अनुमान है। मैसूर दीप परफ्यूमरी हाउस (एमडीपीएच) के निदेशक अंकित अग्रवाल ने कहा, “नकली प्रोडक्टों के उत्पादन से न केवल ब्रांड की प्रतिष्ठा को खतरा है, बल्कि इन आवश्यक वस्तुओं की शुद्धता और प्रामाणिकता में भरोसा करने वाले ग्राहकों की भलाई भी खतरे में है हैं। जबकि हमारा त्योहारी सीजन करीब आ रहा है, हम ग्राहकों को सलाह देते हैं कि वे अधिकृत और प्रतिष्ठित खुदरा विक्रेताओं से प्रार्थना की आवश्यक वस्तुएं खरीदें, ताकि वे अपने घरों में लाए जाने वाले प्रोडक्टों की प्रामाणिकता और गुणवत्ता सुनिश्चित कर सकें। अन्य एफएमसीजी इंडस्ट्री लीडर के साथ मिलकर, हम जालसाजी के खिलाफ एकजुट हैं, एक ऐसे बाजार की दिशा में काम कर रहे हैं, जो असली प्रोडक्ट और हमारे मूल्यवान ग्राहकों की भलाई को प्राथमिकता देता है।“ राजेंद्र भंसाली, अटॉर्नी और एडवोकेट आगे कहते हैं, “कंपनियों को अपने प्रोडक्ट और ग्राहकों की सुरक्षा के लिए कड़े उपाय अपनाने की ज़रूरत है। अनूठी पैकेजिंग आइडेंटिफ़ायर सहित बढ़ी हुई सुरक्षा विशेषताएं, नकली प्रोडक्टों से असली प्रोडक्टों को अलग करने में सहायक हो सकती हैं। इसके अलावा, नकली संचालन के खिलाफ एक संयुक्त मोर्चा बनाने के लिए उद्योग के खिलाड़ियों, नियामक निकायों और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के बीच सहयोग सर्वोपरि है। एमडीपीएच अगरबत्ती उद्योग में इस तरह की धोखाधड़ी गतिविधियों के खिलाफ सामूहिक रक्षा को मजबूत करने के लिए एक खुली बातचीत और सूचना-साझाकरण को प्रोत्साहित करता है।
This image has an empty alt attribute; its file name is WhatsApp-Image-2021-08-12-at-22.47.27.jpeg
This image has an empty alt attribute; its file name is WhatsApp-Image-2021-08-12-at-22.48.17.jpeg
This image has an empty alt attribute; its file name is WhatsApp-Image-2021-08-12-at-22.49.41.jpeg
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *