shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday

Shilpanchal Today

Latest News in Hindi

इस्को की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर बनाए गए हैं राजनीतिक कार्यालय, अभियान में हो रही है समस्या

1 min read
बर्नपुर । बर्नपुर सेल आईएसपी के अधिकारियों ने इस्को की भूमि और आवासों को ज़ब्त करने का अभियान शुरू कर दिया है। लेकिन आवास और जमीन पर ‘कब्ज़ा’ कर बनाए गए विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यालयों के निर्माण को लेकर समस्याएं पैदा हो गई हैं। हालांकि अधिकारियों का दावा है कि इसमें समय लगेगा, लेकिन फैसला जरूर प्रभावी होगा। इधर, बीजेपी और तृणमूल कार्यालय पर ‘अवैध तरीके’ से निर्माण का आरोप लगाकर विवाद में घिर गए हैं। हाल ही में न्यूटाउन इलाके में इस्को फैक्ट्री की जमीन और आवास को खाली कराने का अभियान शुरू हुआ है. इस्को अधिकारियों का दावा है कि उस इलाके के करीब 184 घरों पर बाहरी लोगों का कब्जा है। उनमें से कोई भी आईएससीओ आवास का उपयोग करने का हकदार नहीं है। इसके अलावा रिहायशी इलाकों में बेकार पड़ी खाली जमीन पर राजनीतिक कार्यालय बनाए जाने के भी आरोप लगे हैं। संस्था के सिटी डिवीजन के सीजीएम विनोद कुमार ने बताया कि इस्पात मंत्रालय द्वारा अतिक्रमण खाली करने का स्पष्ट आदेश जारी होने के बाद यह अभियान शुरू किया गया। अधिकारियों के मुताबिक इस्को के विस्तार प्रोजेक्ट में एक और नई यूनिट लगने वाली है। इसके लिए श्रमिकों के लिए आवास बनाना जरूरी है। परिणामस्वरूप, भूमि और आवास का अधिग्रहण किया जा रहा है। लेकिन समस्या को न्यूटाउन क्षेत्र में भूमि और आवास को ‘हथियाने’ द्वारा बनाई गई राजनीतिक संरचनाओं के इर्द-गिर्द केंद्रित देखा गया है। न्यूटाउन की मुख्य सड़क के प्रवेश द्वार के पास के क्षेत्र में भाजपा और तृणमूल के कई कार्यालय दिखाई देंगे। स्थानीय निवासियों ने कहा कि कुछ अप्रयुक्त खाली भूमि पर बनाए गए थे। एक बार फिर विधायक कार्यालय के नाम पर आवास पर कब्जा कर मामला बनाया गया है।आईएससीओ अधिकारियों के एक वर्ग का दावा है कि आम विदेशियों को सौंपने में कोई समस्या नहीं है। अभियान शुरू होते ही बाहरी लोग कब्जा जमा रहे हैं। लेकिन समस्या आवास और जमीन पर कब्जा कर बनाए गए राजनीतिक दलों के कार्यालयों पर केंद्रित है। शिकायत करने वाली पार्टियों के नेता और कार्यकर्ता सहयोग नहीं कर रहे हैं। हालांकि, इस्को के सिटी डिविजन के सीजीएम विनोद कुमार ने कहा, ‘इसमें समय लगेगा। निर्णय प्रभावी होगा।” आसनसोल दक्षिण से भाजपा विधायक अग्निमित्रा ने कहा, ”तृणमूल की प्रवृत्ति कब्जा करने की है। यदि आप क्षेत्र में जाएंगे, तो आपको इस्को की अप्रयुक्त भूमि पर कई तृणमूल कार्यालय दिखाई देंगे। तृणमूल जिला अध्यक्ष नरेंद्रनाथ चक्रवर्ती ने पलटवार करते हुए कहा, ‘बीजेपी कार्यकर्ता न्यूटाउन इलाके में कई आवासों पर कब्जा कर रहे हैं और विधायक कार्यालय के नाम पर गलत काम कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा, “इस्को अधिकारियों को इस संबंध में उचित कार्रवाई करनी चाहिए।” नरेंद्रनाथ का दावा है कि विधायक के तौर पर बीजेपी को अतिरिक्त लाभ नहीं मिलना चाहिए। नियम सबके लिए समान हैं। हालांकि, विधायक अग्निमित्रा का स्पष्टीकरण, क्षेत्र में जनकल्याण सेवाएं प्रदान करने के लिए बनाया गया ‘विधायक कार्यालय’ किसी राजनीतिक दल का कार्यालय नहीं है।
 
This image has an empty alt attribute; its file name is WhatsApp-Image-2021-08-12-at-22.47.27.jpeg
This image has an empty alt attribute; its file name is WhatsApp-Image-2021-08-12-at-22.48.17.jpeg
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *