shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday shilpanchaltoday

Shilpanchal Today

Latest News in Hindi

लोकसभा चुनावों की तारीख का ऐलान, 7 चरणों में डाले जाएंगे वोट, 4 जून को रिजल्ट

1 min read

नई दिल्ली । निर्वाचन आयोग ने शनिवार को लोकसभा चुनाव 2024 के तारीखों की घोषणा कर दी। इस बार चुनाव 19 अप्रैल से एक जून के बीच सात चरणों में होंगे और मतगणना चार जून को होगी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 18वीं लोकसभा के गठन के लिए चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही देश में आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। इसके साथ ही सरकार ऐसा कोई नीतिगत फैसला नहीं कर सकेगी, जो मतदाताओं के फैसले को प्रभावित कर सके। कुमार ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2024 में कुल 97 करोड़ पंजीकृत मतदाता हैं। इनमें से 49.7 करोड़ पुरुष, 47.1 करोड़ महिलाएं और 48 हजार ट्रांसजेंडर शामिल हैं। साल 2019 के चुनाव में मतदाताओं की कुल संख्या 90 करोड़ थी। उन्होंने बताया कि ऐसे मतदाताओं की संख्या 1.8 करोड़ है, जो पहली बार मतदान करेंगे और मतदाता सूची में 85 साल से अधिक उम्र के 82 लाख और सौ साल से अधिक उम्र के 2.18 लाख मतदाता शामिल हैं। कुमार ने बताया कि देशभर में मतदाता लिंगानुपात 948 है और 12 राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों में पुरुष मतदाताओं की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या अधिक है। उन्होंने कहा कि देश में 10.5 लाख से अधिक मतदान केंद्र होंगे और 55 लाख इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल होगा।

उत्तर प्रदेश, बिहार एवं पश्चिम बंगाल में 7 चरणों में वोट डाले जाएंगे

चार राज्यों – कर्नाटक, राजस्थान, त्रिपुरा, मणिपुर – में दो चरणों में वोट डाले जाएंगे, जबकि छत्तीसगढ़ और असम में चीन चरणों में वोटिंग होगी. इसी तरह से ओडिशा, मध्य प्रदेश, झारखंड में चार चरणों में… महाराष्ट्र, जम्मू-कश्मीर में पांच चरणों में और उत्तर प्रदेश, बिहार एवं पश्चिम बंगाल में सात चरणों में वोट डाले जाएंगे.

22 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 1 चरण में डाले जाएंगे वोट

22 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में एक चरण में वोट डाले जाएंगे. इन राज्यों में – अरुणाचल प्रदेश, अंडमान-निकोबार द्वीप, आंध्र प्रदेश, चंडीगढ़, दादरा नगर हवेली, दिल्ली, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, केरल, लक्षद्वीप, लद्दाख, मिजोरम, मेघालय, नागालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम, तमिलनाडु, पंजाब, तेलंगाना और उत्तराखंड – शामिल हैं.

पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल को

पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल को होगा, जिसमें 21 राज्यों की 102 सीटों पर वोट डाले जाएंगे, जबकि 26 अप्रैल को दूसरे चरण के अंतर्गत 13 राज्यों की 89 सीटों पर मतदान होगा. इसी तरह से 7 मई को तीसरे चरण में 12 राज्यों की 94 सीटों पर मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. 13 मई को चौथे चरण में 10 राज्यों की 96 सीटों पर, 20 मई को पांचवें चरण में 8 राज्यों की 49 सीटों पर, 25 मई को छठे चरण में 7 राज्यों की 57 सीटों पर, जबकि 1 जून को सातवें और आखिरी चरण में 8 राज्यों की 57 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

सीईसी की राजनीतिक दलों को सलाह, चुनाव प्रचार में सीमा रेखा ना लांघें

सीईसी ने राजनीतिक दलों को प्यार से चुनावी अभियान करने की सलाह देते हुए कहा कि वे चुनाव अभियान के दौरान रेड लाइन पार न करें.

सीईसी राजीव कुमार ने कहा, चुनाव में हिंसा का कोई स्थान नहीं होना चाहिए

सीईसी ने कहा कि चुनाव में हिंसा का कोई स्थान नहीं होना चाहिए. मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा, “हमें चुनाव में फ्री बीज पर लगाम लगाना है.” उन्होंने यह भी कहा कि गैरजमानती वारंट को पुलिस अमल में ला रही है.

100 साल से ऊपर के 2.18 लाख मतदाता, जबकि 88.5 लाख दिव्यांग वोटर्स

सीईसी राजीव कुमार ने बताया कि इस बार के लोकसभा चुनाव में 100 साल से ऊपर के 2.18 लाख मतदाता, जबकि 88.5 लाख दिव्यांग मतदाता हैं. इसी तरह से 85 साल से ऊपर के कुल 82 लाख वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. लोकसभा चुनावों के कुल मतदाताओं में 49.7 करोड़ पुरुष वोटर्स और 47.15 करोड़ महिला वोटर्स हैं.

देश में करीब 21.5 करोड़ युवा मतदाता और 1.82 करोड़ नए वोटर्स

सीईसी राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 55 लाख इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) का इस्तेमाल लोकसभा चुनावों में किया जाएगा. उन्होंने यह भी बताया कि देश में करीब 21.5 करोड़ युवा मतदाता हैं, जबकि 1.82 करोड़ नए मतदाता हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *